मेरी बात:


आयो कहॉं से घनश्‍याम

प्रशंसक

शुक्रवार, 14 जनवरी 2011

खिचड़ी का त्यौहार

देसी घी की खुशबू, बासमती का चावल, उड़द की दाल,
साथ में प्याज़, नीम्बू, मिर्च, मूली और अचार.
मुबारक हो आप सभी को खिचड़ी का त्यौहार.

मीठे गुड में मिल गया तिल,
उडी पतंग और खिल गया दिल
हर पल सुख और हर दिन शांति
आप सभी को हैप्पी मकर संक्रांति.

कोई टिप्पणी नहीं: